कविता श्रृंगार रस से नहीं, राष्ट्रीयता की सर्वोच्चता के उद्घोष से अमर होती है : श्रीधर पराड़कर

कविता श्रृंगार रस से नहीं, राष्ट्रीयता की सर्वोच्चता के उद्घोष से अमर होती है : श्रीधर पराड़कर ‘पुष्प की अभिलाषा’ के मूल्य और इसके शाश्वत संदेश ने शताब्दी वर्ष के लिए अभिप्रेत किया : प्रो. केजी सुरेश पत्रकारिता में अपने अंदर के जीवित पुष्प की अभिलाषा का प्रकटीकरण आवश्यक : डॉ. विकास दवे माखनलाल चतुर्वेदी…

एमसीयू मना रहा है ‘पुष्प की अभिलाषा’ की रचना का शताब्दी वर्ष

एमसीयू मना रहा है ‘पुष्प की अभिलाषा’ की रचना का शताब्दी वर्ष आज विश्वविद्यालय में ‘पुष्प की अभिलाषा के सौ वर्ष’ पर विमर्श का आयोजन, शताब्दी वर्ष के आयोजन का शुभारम्भ, बसंत पंचमी पर सरस्वती पूजन का विशेष आयोजन भोपाल, 15 फरवरी, 2021: राष्ट्रीय चेतना का जागरण करने वाले प्रखर साहित्यकार, कवि, लेखक, पत्रकार और…

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय सम्बद्ध अध्ययन केंद्रों को करेगा मजबूत : कुलपति प्रो. केजी सुरेश

माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय सम्बद्ध अध्ययन केंद्रों को करेगा मजबूत : कुलपति प्रो. केजी सुरेश संकट के समय में रेडियो ने निभाई अहम भूमिका, आवाज की दुनिया का शहंशाह है रेडियो विश्व रेडियो दिवस के उपलक्ष्य पर रेडियो दस्तक के कार्यक्रम में कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने रखे विचार भोपाल, 14 फरवरी, 2021: माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय…